घर बीमा

घर बीमा के प्रकार

  होम इंश्योरेंस
पॉलिसी के बारे में जानकारी होम इंश्योरेंस में किसी भी व्यक्ति के निजी मकान की चारदीवारी  और मकान के भीतर के सामान का इंश्योरेंस किया जाता है। यह  इंश्योरेंस किराये में रहने वाला किरायेदार और मकान को किराये पर देने वाला मकान मालिक भी अपनी -अपनी जरुरत के हिसाब से ले सकता हैं। इसका बेसिक प्लान कुछ चुनिंदा चीज़ों को कवर करता है, और कॉम्प्रिहेंसिव प्लान सभी खास जरूरतों को।
कवरेज इसमें मकान और उसके अंदर के सामान को कई तरह के नुकसान से कवरेज दिया जाता है जैसे –
 आग और उससे जुडी  दुर्घटनाएँ 
-पानी के रिसाव से नुकसान
- चोरी और लूटपाट
- गहने, कीमती उपकरण और कीमती सामान का कवरेज
- बाढ़, तूफान, बिजली गिरना, भूकंप, दंगे और आतंकवाद  जैसी घटना
- व्यक्तिगत दुर्घटना और पब्लिक लायबिलिटी कवरेज
प्रीमियम प्रीमियम की धनराशि कुछ बातों पर निर्भर करती है, जैसे - कौन सा प्लान लिया गया है, उसमें कौन-कौन से ऐड ऑन लिए गए हैं, और पॉलिसी कितने समय के लिए लिया गया है।
पॉलिसी की अवधि अलग -अलग इंश्योरेंस कम्पनियाँ एक बार में एक साल से पांच साल तक का कवरेज देती हैं।
ऐड ऑन कवर होम इंश्योरेंस के बेसिक प्लान में अलग से ऐड ऑन लिए जाते हैं जिससे  होम इंश्योरेंस का पूरा फायदा मिल सके। इसमें शामिल है -
• घर की कलात्मक सामान का कवरेज जैसे –एंटीक्स, गहने, पुरानी आर्ट की वस्तुएँ,  पुरानी किताबें, महँगी घडियाँ या इसी तरह की अन्य चीज़ें।
• प्राकृतिक आपदाओं जैसे -भूकंप, बाढ़, तूफान, बिजली गिरना आदि से होने वाले नुकसान से कवरेज।
• मानव निर्मित आपदाओं जैसे- युद्ध, आतंकवाद, दंगे आदि से संपत्ति को होने वाले नुकसान का कवरेज
• घर के किसी भाग को  किसी भी तरह का कारोबार करने के लिए  इस्तेमाल करने का कवरेज -किसी भी तरह की दुर्घटना होने पर  इंश्योरेंस कंपनी कारोबार को होने वाले नुकसान का क्लेम देगी।
• किराये के मकान में रहने का कवरेज- अगर अपना घर किसी नुकसान की वजह से रहने लायक न रहे और कुछ समय तक किराये के मकान में रहना पड़े  तो एक निश्चित  समय तक आपका किराया भी इंश्योरेंस कवर करेगा।
• लाएबिलिटी से सुरक्षा - अगर आपकी संपत्ति के अंदर किसी तीसरे व्यक्ति को जाने- अनजाने किसी तरह का नुकसान पहुँचता है तो वह लाएबिलिटी ऐड ऑन में कवर होता है।
क्या शामिल नहीं है (एक्सक्लूज़न) लापरवाही के कारण संपत्ति को पहुंचा नुकसान, जानबूझकर संपत्ति को पहुंचाया गया नुकसान, समय के साथ ख़राब हुई चीजें, युद्ध या परमाणु हमले से हुआ नुकसान, आदि। 
ध्यान रखने योग्य बातें • सम ऐश्योर्ड और कवरेज: एक अच्छे सम ऐश्योर्ड  को रिइंस्टेटमेंट वैल्यू के बराबर होना चाहिए, जिसका मतलब है  होम इंश्योरेंस के अंदर इनश्योर्ड मकान और घर के अन्दर के सामान को नुकसान होने की दशा में दोबारा उसी जगह पर बनाने या स्थापित या रिप्लेस करने की कीमत।
• अपने घर की जरुरत के हिसाब से सही ऐड ऑनस का चुनाव करना चाहिए, इससे प्रीमियम में बचत होती है।
• फस्ट लॉस पॉलिसी लेने पर भी प्रीमियम की बचत होती है। फस्ट लॉस पॉलिसी तब लिया जाता है जब एक साथ पूरे घर के सामान के चोरी या नुकसान होने की संभावना कम होती है।
• जरुरत से कम का इंश्योरेंस लेना - ऐसी स्तिथि में नुकसान होने पर कम क्लेम मिलेगा, और इस तरह आप पॉलिसी का पूरा फायदा नहीं उठा पाएँगे।
• अगर पॉलिसी में सही जानकारी नहीं दिया जाता तो क्लेम लेने के दौरान मुश्किलें खड़ी हो सकती हैं।
• पॉलिसी लेने से पहले अलग -अलग इंश्योरेंस कंपनियों के प्लान की आपस में तुलना करनी चाहिए और उनका क्लेम सेटलमेंट रेश्यो भी देखना चाहिए।
• पॉलिसी  लेने से पहले कंपनी के टर्म्स एंड कंडीशंस को ध्यान से पढ़ना चाहिए।

Types of Travel Insurance +

घर बीमा के क्लेम सेटलमेंट रेश्यो

बीमा कंपनिया  बीमा कंपनी के पास कितना प्रीमियम आया (करोड़ में) बीमा कंपनी ने कितने क्लेम पास करे (करोड़ में) क्लेम सेटलमेंट रेश्यो %
बजाज आलियांज 796.31 587.18 73.74%
भारती एक्सा 80.09 63.33 79.07%
चोलामंडलम एमएस  121.24 86.06 70.99%
फ्यूचर जनरली  107.55 63.74 59.26%
गो डिजिट  0.11 0.06 60.17%
एचडीएफसी एर्गो  526.55 419.58 79.69%
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड 1080.38 1017.68 94.20%
इफको टोकियो 302.93 306.79 101.28%
कोटक महिंद्रा 0.15 0.15 103.14%
लिबर्टी जनरल 22.64 9.22 40.73%
मैग्मा एचडीआई 4.71 6.98 148.34%
रहेजा क्यूबीई  26.33 8.48 32.20%
रिलायंस 366.73 236.75 64.56%
रॉयल सुंदरम 22.91 8.35 36.45%
एसबीआई जनरल  148.44 145.24 97.84%
श्रीराम 18.11 11.53 63.68%
टाटा एआईजी 284.47 310.85 109.27%
युनिवर्सल सोम्पो 544.84 145.64 26.73%

टेबल की जानकारी  - ऊपर दी हुई टेबल की सभी जानकारी IRDA की वार्षिक रिपोर्ट 2017-2018 (स्टेटमेंट 15 ) से ली गई है | इंश्योरेंस रेगूलट्ररी डेवेलपमेंट औथोरिटी या IRDA हर साल अपनी वार्षिक  रिपोर्ट में सभी इंश्योरेंस कंपनीयो का  प्रमुख डाटा उपलब्ध कराती है | आप इस डाटा को IRDA की वेबसाइट पर भी पढ़ सकते है | (IRDA वेबसाइट)

*IRDA की रिपोर्ट में अन्य बीमा में घर और साइबर एक साथ दिए हुए है ।

Claim Settlement Ratio of Home Insurance +

INSURER  Net Earned Premium (In Crore) Claims Incurred (Net) (In Crore) Incurred Claims Ratio %
BAJAJ ALLIANZ  796.31 587.18 73.74%
BHARTI AXA  80.09 63.33 79.07%
CHOLAMANDALAM MS  121.24 86.06 70.99%
FUTURE GENERALI  107.55 63.74 59.26%
GO DIGIT  0.11 0.06 60.17%
HDFC ERGO*  526.55 419.58 79.69%
ICICI LOMBARD  1080.38 1017.68 94.20%
IFFCO TOKIO  302.93 306.79 101.28%
KOTAK MAHINDRA  0.15 0.15 103.14%
LIBERTY GENERAL**  22.64 9.22 40.73%
MAGMA HDI  4.71 6.98 148.34%
RAHEJA QBE  26.33 8.48 32.20%
RELIANCE  366.73 236.75 64.56%
ROYAL SUNDARAM  22.91 8.35 36.45%
SBI GENERAL  148.44 145.24 97.84%
SHRIRAM  18.11 11.53 63.68%
TATA AIG  284.47 310.85 109.27%
UNIVERSAL SOMPO  544.84 145.64 26.73%

Table Information Source - All the information given in the above table is taken from IRDA Annual Report 2017-2018 (Statement 15) . Insurance Regulatory Development Authority or IRDA publishes key data each year for all the insurance company in the annual report. You can access this data on the IRDA website.

नए लेख - इंश्योरेंस पॉलिसीस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ

14 May 2019

होम इंश्योरेंस लेने से पहले किन बातों पर गौर करना जरुरी है

रोटी ,कपडा और मकान जीने की तीन मूलभूत आवश्यकताएं हैं। इसमें से मकान व्यक्ति के जीवन की वो संपत्ति है जिसे जुटाने के लिए वह अपनी कमाई का एक बड़ा हिस्सा खर्च करता है। फिर उस मकान को घर बनाने में वह अपनी और अपने परिव

0 Comments

14 May 2019

होम इंश्योरेंस के दायरे में क्या आता है?

आपका घर आपके व्यक्तित्व का आइना होता है।  वो कहते हैं ना, कि अगर किसी को भीतर से जानना हो तो उसके घर को जाकर देखो। घर की साज सज्जा और उसके अंदर जो  कुछ भी बसता है, उसे व्यक्ति एक -एक करके जोड़ता है और उसमे समय लगत

0 Comments

Expert Advice

IRDA


आपके फीडबैक

बहुत ही अच्छा लगा इन्शुरन्स के बारे पढ़ कर बिलकुल सरल भाषा का उपयोग करने से बहुत जल्दी से समझ आ गया। 

Dhileesh

Sahi beema is a one stop place to understand all the insurance jargons in very simply layman language

Rajesh
Senior Manager

I was looking for the claim process but unable to find any exact information on any other portals but this website helped me in deciding which insurance product I should buy for me and my family

Lalit
Entrepreneur

में सही बीमा की वेबसाइट पर इनके Youtube चैनल से आया था। सब लोग 1 करोड़ का इन्शुरन्स लेने के लिए बोलते है परन्तु मुझे उस प्लान्स की जानकारी यहाँ से मिली।  धन्यवाद

Prakash

न्यूज़लेटर सब्सक्राइब करे