स्वास्थ्य बीमा

हेल्थ इंश्योरेंस के प्रकार

पॉलिसी  मेडिक्लेम इंश्योरेंस फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान सीनियर सिटिज़न हेल्थ इंश्योरेंस प्लान क्रिटिकल इलनेस हेल्थ इंश्योरेंस प्लान इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान     व्यक्तिगत दुर्घटना इंश्योरेंस प्लान
पॉलिसी के बारे में जानकारी मेडिक्लेम इंश्योरेंस आपको दुर्घटना या बीमारी से जुड़े खर्चे को कवर करने में मदद करता है। मेडिक्लेम इंश्योरेंस  के द्वारा आप अचानक  सामने आने वाले स्वास्थ्य सम्बन्धी  समस्याओं से निपटने के लिए  तैयार रह सकते हैं और अपने भविष्य की जरूरतों के लिए बचाये गए पैसों भी की बचत कर सकते हैं ।      फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान परिवार के एक सदस्य के लिए नहीं , बल्कि  परिवार के सभी सदस्यों के लिए  एक साथ लिया जाने वाला प्लान है।   इस प्लान में आप साल में एक बार , या एक साल में दो बार प्रीमियम दे सकते हैं , और इसमें आपको परिवार के सदस्यों को शामिल करने  की सुविधा भी मिलती  है, जिन्हें इंश्योरेंस कंपनी कवरेज देती है ।    60 साल की उम्र तक  आते-आते बीमारी पर खर्चा बढ़ता  जाता है, और सीनियर सिटिज़न  हेल्थ इंश्योरेंस प्लान आपको अचानक बीमारी के कारण  पैदा होने वाले इमरजेंसी के  हालत  और  उससे जुड़े खर्चे से  निपटने में मदद करता है।  यह 60 से 80  साल तक के उम्र के लोगों लिए है। क्रिटिकल इलनेस  हेल्थ इंश्योरेंस प्लान इंश्योरेंस कंपनियों के द्वारा खास तौर पर उन लोगों के लिए  बनाया गया प्लान है, जो हार्ट- अटैक , स्ट्रोक, कैंसर और पैरालिसिस जैसी गंभीर बीमारियों से लड़  रहे होते हैं।   इन बीमारियों के इलाज में  बहुत पैसा खर्च होता है, और यह इंश्योरेंस उन खर्चों से निपटने में मदद करता  है।       इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान  इलाज से जुड़े सभी खर्चों को कवर करता है, लेकिन यह सिर्फ एक अकेले व्यक्ति के लिए तैयार किया गया प्लान है, बाकी परिवार  के सदस्य इस पॉलिसी में कवर नहीं होते।        यह प्लान दुर्घटना  होने पर इलाज के लिए जरुरी खर्चे को कवर करता है। दुर्घटना कहीं भी घट सकती है -सड़क से यात्रा करते समय , रेल में या  हवाई जहाज़ में। यदि दुर्घटना के  दौरान व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो इंश्योरेंस   कंपनी व्यक्ति के परिवार को सम -ऐशयोर्ड देता है।    
पॉलिसी लेने की सही उम्र मेडिक्लेम इंश्योरेंस कराने की न्यूनतम आयु 90 दिन है जिसके अंदर एक नवजात शिशु के लिए पॉलिसी ली जा सकती है , और इसकी अधिकतम आयु  60 से 65 वर्ष तक है। फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने के लिए वयस्क की आयु 18 से  60-65 साल तक होनी चाहिए। अगर हेल्थ इंश्योरेंस प्लान लेने वाले वयस्क के ऊपर आश्रित बच्चे की आयु  कम से कम 90 दिन है तो वयस्क की आयु  22 से 25 साल तक होना चाहिए।इंश्योरेंस प्लान में कवर्ड परिवार  के अन्य सदस्यों की उम्र अधिकतम 60-65 साल तक होती है। इस प्लान को लेने के लिए कम से कम  60 साल की उम्र होनी चाहिए , और इसकी अधिकतम उम्र अलग अलग प्लान के हिसाब से अलग अलग है , लेकिन आमतौर पर यह 80 साल तक की उम्र के लोग ले सकते हैं। इस  इंश्योरेंस प्लान को लेने की  न्यूनतम आयु 18 साल है, लेकिन बाजार में कुछ प्लान ऐसे भी मौजूद  हैं, जिसमें  5 साल की  उम्र से अधिकतम   60 से 65 वर्ष की उम्र तक के लोग क्रिटिकल इलनेस  हेल्थ इंश्योरेंस प्लान को खरीद सकते हैं। इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान  कम से कम  90 दिन के  नवजात शिशु के लिए ले सकते हैं , या ज्यादा से  ज्यादा 60 से 65 साल तक की उम्र के व्यक्ति  लिए। यह प्लान लेने के लिए व्यक्ति की आयु कम से कम 18 साल, और अधिकतम 60-65 साल तक  होनी चाहिए।
प्रीमियम प्रीमियम की रकम अधिकतर व्यक्ति की आयु और स्वस्थ्य पर निर्भर करता है। आमतौर पर पब्लिक कंपनियों का प्रीमियम  प्राइवेट कंपनियों से कम होता है। इसका प्रीमियम आमतौर पर परिवार के हर सदस्य के लिए अलग -अलग लिए जाने वाले इंश्योरेंस प्लान के प्रीमियम से कम होता है। क्योंकि इस प्लान में परिवार के कई सदस्य एक साथ कवर होते हैं तो इसका इंश्योरेंस कवरेज ज्यादा होना चाहिए, और ज्यादातर समय इंश्योरेंस कम्पनियाँ बड़ी धन राशि के सम ऐशयोर्ड के प्रीमियम पर छूट देती हैं। किसी भी सीनियर सिटिज़न  हेल्थ इंश्योरेंस प्लान का प्रीमियम बहुत ज्यादा होता है , क्योंकि इस उम्र तक पहुँचते -पहुँचते इलाज में पैसे खर्च होने की संभावना बहुत ज्यादा हो जाती है। कुछ  इंश्योरेंस कम्पनियाँ तो पॉलिसी देने से पहले मेडिकल जाँच कराने को भी कहती हैं। प्रीमियम की रकम आमतौर पर ज्यादा होती है ,क्योंकि  क्रिटिकल इलनेस जैसी जान लेवा बीमारियों के साथ जोखिम भी बहुत जुड़े होते हैं। इसका प्रीमियम आमतौर पर कम होता है क्योंकि इंश्योरेंस कवर केवल एक व्यक्ति के लिए होता है। लेकिन प्रीमियम की राशि कई तरह की बातों को ध्यान में रखकर  तय किया जाता है, जैसे व्यक्ति की उम्र,  उसके स्वास्थ्य की स्थिति आदि।    जितना कवरेज इस इंश्योरेंस प्लान में मिलता है , उस हिसाब से इसका प्रीमियम काफी सस्ता है। अगर व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा प्लान को बाकि इंश्योरेंस प्लान के साथ ऐड ऑन राइडर की तरह लेता है तो यह एक बेहतरीन प्लान बन जाता है।
कैशलेस सुविधाएँ जी हाँ। मेडिकल इंश्योरेंस कंपनी के पैनल में जितने भी  अस्पताल आते हैं, वहाँ आप  कैशलेस इलाज की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। अस्पताल में इलाज शुरु करने से पहले यह जरूर देख लें कि उस अस्पताल का नाम  पैनल के अस्पतालों की लिस्ट में है कि नहीं, और वहाँ इलाज करवाने पर आपके इंश्योरेंस का क्लेम मंजूर होगा की नहीं।       आजकल लगभग सभी बड़े अस्पताल हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों के पैनल में होते हैं।  आप पैनल के नेटवर्क में आने वाले सभी अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा का लाभ ले सकते हैं।       अधिकतर प्लान  अपने नेटवर्क के  पैनल के अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा देते हैं, या  इलाज में जो भी पैसा लगता है , उसे वापस लौटाते  हैं ।       आजकल लगभग सभी बड़े अस्पताल हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों के पैनल में होते हैं।  आप पैनल के नेटवर्क में आने वाले सभी अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा का लाभ ले सकते हैं।    ज्यादातर कम्पनियाँ  नेटवर्क अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा देती हैं , और आजकल लगभग सभी बड़े अस्पताल  इंश्योरेंस कंपनियों के पैनल में होते हैं।       लगभग सभी प्लान  नेटवर्क में आने वाले सभी अस्पतालों में कैशलेस इलाज की सुविधा देते हैं।      
कवरेज मेडिक्लेम इंश्योरेंस बीमारी से जुड़े खर्चे या अस्पताल में भर्ती होने के दौरान इलाज में होने वाले अन्य ख़र्चों को कवर करता है।  अक्सर फैमिली फ्लोटर प्लान पूरे परिवार को कवरेज देता है जिसमे परिवार के सदस्यों की संख्या 4 तक होती है, लेकिन बाजार में कुछ प्लान ऐसे भी हैं जिसमें माता-पिता भी पॉलिसी में कवर होते हैं।   इंश्योरेंस कम्पनियाँ वैसे तो इलाज का पूरा खर्चा देती हैं , लेकिन यह जानने के लिए कि आपको कितना कवरेज की जरुरत है , आपको साल भर में इलाज पर हुए खर्चे का अंदाज लगाकर कवरेज तय करना होना । हर इंश्योरेंस कंपनी के प्लान अलग अलग हैं , जिसमें वह  8 से लेकर  37 तक बड़ी बीमारियों को कवरेज देते  है।जो भी पॉलिसी आप खरीद रहे हैं उसे लेते समय यह जरूर देख लें कि कौन सी बीमारी  पॉलिसी में कवर्ड है। 2 लाख से 50 लाख  तक सम ऐश योर्ड वाले प्लान मौज़ूद हैं। इसमें सिर्फ एक अकेले व्यक्ति को कवरेज दिया जाता है और उसके इलाज से जुड़े खर्चों को कवर किया जाता है। आपको कितने कवरेज की जरुरत है इसका अंदाज़ा आपको दुर्घटना के समय इलाज के लिए कितने  पैसों की जरुरत पड़ सकती है,  और रोज के खर्चे के लिए कितने नगदी की जरुरत पड़ेगी , इन दोनों को ध्यान में रखकर करना चाहिए     
अस्पताल से लाने -ले जाने का खर्चा अधिकतर इंश्योरेंस कम्पनियाँ मरीज़ को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देती हैं। फैमिली फ्लोटर प्लान परिवार के सभी कवर्ड सदस्यों को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देती है। अधिकतर सीनियर सिटिज़न  हेल्थ इंश्योरेंस प्लान मरीज़ को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देती हैं। अधिकतर इंश्योरेंस प्लान मरीज़ को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देते हैं, लेकिन कुछ कम्पनियों के प्लान यह खर्चा नहीं देते , क्योंकि वह एक साथ एक बड़ा पैसा मरीज़ को  इलाज का खर्चा उठाने के लिए दे देते हैं। अधिकतर इंश्योरेंस प्लान  मरीज़ को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देती हैं। आमतौर पर  यह प्लान मरीज़ को अस्पताल में लाने -ले जाने का खर्चा देती है।
अस्पताल में भर्ती होने से पहले और डिस्चार्ज के बाद का खर्चा अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले और 60 दिन बाद तक के इलाज का खर्चा  आप अपने प्लान के हिसाब से, डिस्चार्ज होने के 45-60  दिन के भीतर क्लेम कर सकते हैं। फैमिली हेल्थ इंश्योरेंस में अस्पताल में भर्ती होने से 30 से 60 दिन पहले का, और डिस्चार्ज होने के 45 से 60  दिन के भीतर का इलाज का खर्चा क्लेम किया जा सकता है, जो लिए गए प्लान पर निर्भर करता है । ज्यादातर इन्सुरन्स कम्पनियाँ अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले और 60 दिन बाद तक के इलाज का पूरा खर्चा देती हैं, या कुछ  कम्पनियाँ अस्पताल में होने वाले कुल खर्चे का 3% से 5% तक देती हैं। ज्यादातर इंश्योरेंस प्लान अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले और 60 दिन बाद तक के इलाज का खर्चा देते हैं। ज्यादातर इंश्योरेंस कम्पनियाँ अपने अपने प्लान के हिसाब से अस्पताल में भर्ती होने से 30 दिन पहले और 90 दिन बाद तक के इलाज का खर्चा देती है। इंश्योरेंस कंपनी सम ऐशयोर्ड के आधार पर आपके खर्चे को कवर करती है।
अन्य फ़ायदे • यह प्लान लचीला है क्यों कि इसमें थोड़ा सा प्रीमियम ज्यादा देने पर फैमिली फ्लोटर प्लान लिया जा सकता है जिसमे पूरे  परिवार को इंश्योरेंस का कवरेज मिल जाता है।
• कुछ प्लान में सीनियर सिटीजन को शामिल करने का विकल्प भी है, या   आप उनके लिए अलग  से मेडिक्लेम प्लान भी ले सकते हैं।
• मेडिक्लेम इंश्योरेंस का प्रीमियम भरने पर आप इनकम  टैक्स के सेक्शन 80D के तहत इनकम टैक्स में छूट का लाभ उठा सकते हैं।
• यह एक ही  समय में परिवार के दो या तीन सदस्यों के इलाज का खर्चा भी उठता है , लेकिन सम  ऐशयोर्ड के लिमिट के भीतर रहकर।
• आपके पास दो या तीन साल का इंश्योरेंस एक ही साथ खरीदने का ऑप्शन होता है।
• इस इंश्योरेंस का प्रीमियम भरने पर आपको इनकम  टैक्स 1961 के सेक्शन 80D के तहत इनकम टैक्स में छूट मिलती है।
इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम भरने पर आपको इनकम  टैक्स 1961 के सेक्शन 80D के तहत इनकम टैक्स में छूट मिलती है। • इस इंश्योरेंस पॉलिसी को लेने का मुख्य फायदा यह है कि यह आपके जीवन भर की बचत को इलाज में होने वाले  खर्चे से बचाता है।
• आपके पास दो या तीन साल का इंश्योरेंस एक ही साथ खरीदने का ऑप्शन होता है।
• इंश्योरेंस पॉलिसी का प्रीमियम भरने पर आप इनकम  टैक्स एक्ट के सेक्शन 80D के तहत इनकम टैक्स में मिलने वाली छूट का लाभ उठा सकते है।
• इसका प्रीमियम एक व्यक्ति के स्वास्थ्य  की देखभाल के हिसाब से बहुत किफ़ायती है
• यह इंश्योरेंस लचीला है , और भविष्य में माता -पिता और  ससुराल पक्ष के लोगों को इंश्योरेंस पॉलिसी  में जोड़ने की सुविधा देता है, जिससे उनके लिए नई पॉलिसी खरीदने की जरुरत न पड़े।
• इनकम  टैक्स के सेक्शन 80D के तहत इंश्योरेंस का प्रीमियम भरने पर आप  इनकम टैक्स में छूट का लाभ उठा सकते हैं।
• यह प्लान मृत्यु होने पर , या पूर्ण रूप से विकलांग  होने पर कवरेज देता है।
• कुछ  प्लान  दुनिया के किसी भी कोने में  होने पर भी कवरेज देता है।
• इस  प्लान में एक व्यक्ति या  परिवार के सभी सदस्यों के लिए कवरेज लिया जा सकता है।
पहले से मौज़ूद बीमारी साधारण मेडिक्लेम प्लान, इंश्योरेंस लेने से पहले शरीर में मौजूद बीमारी को कवर नहीं करता। कुछ प्लान में पॉलिसी लेने के कुछ  समय बीत जाने पर , जिसे वेटिंग पीरियड कहते हैं , प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को भी कवरेज मिलना शुरू हो जाता है।   फैमिली फ्लोटर प्लान किसी भी प्री- एग्ज़िस्टिंग बीमारी को पहले दिन से ही कवर नहीं करता। आपको एक निर्धारित समय पूरा होने तक उस बीमारी का कवरेज मिलने का  इंतज़ार करना पड़ेगा। ज्यादातर बड़ी  इंश्योरेंस  कंपनियों ने प्री- एग्ज़िस्टिंग बीमारियों को कवर करने के लिए अलग-अलग वेटिंग पीरियड बनाया हुआ है। शुरू के 12 महीने कोई भी कंपनी इंश्योरेंस कवर नहीं देती।    क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस प्लान प्री एग्जिीस्टिंग डिजीज को कवर तो करता है , लेकिन वेटिंग पीरियड समाप्त होने के बाद। यह पॉलिसी  खरीदने के पहले दिन से ही कवरेज नहीं देता। इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को पॉलिसी खरीदने के पहले दिन से ही कवर नहीं करता।  इसके लिए वेटिंग पीरियड के ख़त्म होने का इंतज़ार करना पड़ता है।   प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ या विकलांगता इसमें कवर नहीं होता।
इंतज़ार की अवधि मेडिक्लेम पॉलिसी में प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ कवर करने के लिए 2 से 4 साल तक का समय वेटिंग पीरियड होता हैं, लेकिन कौन-कौन सी बीमारी पॉलिसी में प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ के  रूप में कवर्ड है, और कितने समय के बाद कवर्ड है, यह पॉलिसी लेने से  पहले देखना ज़रूरी हैं।  प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को कवर करने के लिए इन प्लान का वेटिंग पीरियड 2 से 4 साल तक का होता हैं, लेकिन कौन-कौन सी बीमारी पॉलिसी में प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ के  रूप में कवर्ड है, यह पॉलिसी लेने से  पहले देखना ज़रूरी हैं। इसमें वेटिंग पीरियड अलग अलग प्लान के हिसाब से बदलता रहता है, लेकिन अगर औसत  निकालें तो  प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को कवर करने के लिए आपको  2 से 4 साल तक का इंतज़ार करना पड़ता है, लेकिन पॉलिसी लेने से  पहले यह जरूर देख लें कि कौन सी बीमारी पॉलिसी में कवर्ड है , और कितने समय के बाद कवर्ड है।   क्रिटिकल इलनेस इंश्योरेंस प्लान में क्लेम लेने के लिए वेटिंग पीरियड लगभग  3 महीने  है , और प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को  कवर करने का वेटिंग पीरियड 2 से 4 साल तक का समय होता है। बीमारी और उसका  वेटिंग पीरियड कितना है , यह पॉलिसी  लेते समय जाँच लें। प्री- एग्ज़िस्टिंग डीजीज़ को कवर करने के लिए.इंडिविजुअल हेल्थ इंश्योरेंस प्लान का वेटिंग पीरियड 2 से 4 साल तक का होता है, लेकिन कौन सी बीमारी पॉलिसी में कवर्ड है , यह पॉलिसी लेते समय जरूर देखना चाहिए। यह इंश्योरेंस खासतौर पर दुर्घटना के समय पैदा होने वाले अनिश्चित पलों के लिए है, लेकिन यह पहले दिन से ही इंश्योरेंस कवरेज नहीं देता। आमतौर पर इसका वेटिंग पीरियड 30  से  90 दिन है, लेकिन यह भी अलग अलग प्लान के हिसाब से बदलता रहता है। इंश्योरेंस प्लान लेने से पहले पॉलिसी के  कागज़ ध्यान से पढ़ने  चाहिए।

Types of Health Insurance +

  Mediclaim Insurance Family Health Insurance Plan Senior Citizen Health Insurance Plans Critical Illness Health Insurance Plans Individual Health Insurance Plans Personal Accident Insurance Plans
About the Policy Mediclaim insurance helps you in covering medical expenses due to some illness or an accident. Through medical insurance, you can prepare for the unexpected health-related issues or secure the funds you have saved for future purpose. Family Health Insurance Plan is meant for all the member of the family instead of purchasing each plan separately. In the single annually or half year premium, it will cover each member you want to include in the policy. Medical expenses are always increasing once you reach at the age of 60 and senior citizen health insurance plans help to avoid the expense or uncertain medical emergency and it is available for the age of 60-80 years old people. Critical illness insurance plans are custom planned by insurance companies for those people who are suffering from some major disease like Heart Attack, Stroke, Cancer & paralysis. These diseases require huge amount for the treatment and this insurance helps you to manage the expenses.  Individual Health Insurance Plans helps in covering all the expense related to medical. But it is meant only for an only single person and not any family member can be part of this policy. These plans help you to cover the expense of medical treatment in case of an accident. Unfortunate account or mishappening can happen anywhere like on road or in traveling through rail/air.  If there is a death case then the insurance company will give sum assured to the family.
Age Eligibility  The minimum age for medical insurance is around 90 days for a newborn baby and maximum 60-65 years old can opt for medical insurance.   For opting Health Insurance Plan adult age is from 18 to 60-65 years old if there is any directly dependent kid then minimum 90 days birth kid to 22 or 25 years old. For others and maximum 60-65 years old can be included in the family insurance. Minimum age eligibility to opt for this plan is 60 years and the maximum age varies from plan to plan but generally 80 years old can purchase this policy. The minimum age for opting this plan is around 18 years old but some plans are available in the market even for 5 years old and maximum age is 60-65 years old can opt for this critical illness plan. The minimum age for individual health insurance is around 90 days for a newborn baby and a maximum of 60-65 years old can opt for medical insurance. The minimum age for opting this plan is around 18 years old and maximum age eligibility is 60-65 years old.
Premium Premium usually depends on the individual Age & Health. Generally, public companies offer less premium than private companies.   Premiums are generally cheaper in comparison to buying health insurance separately for each member of the family. Since there are family members involved in one policy so the coverage amount should be high and most of the time insurance companies offer discounts on premium for opting high-value sum assured.   Premiums for any senior citizen health insurance plans are very high because at that chances of medical expense are very high. Some insurance companies even ask to get a medical check-up done before issuing the policy.  Premiums are generally higher due to the risk associated in critical or life threating diseases.  Premiums are generally low due to the risk borne by the insurance company is only for an individual person. However, premiums are decided on the basis of age & medical condition and other various factors. Premiums are cheaper in comparison to the coverage amount provided in health insurance. It will be the best combination if purchased along with the insurance plan and personal accident as a rider or additional benefit.
Cashless Services Yes. In medical insurance, you can avail the cashless benefit in their network panel hospitals. Please check hospital name on panel list before buying or getting treatment in the hospital that they accept your medical insurance company claims or not. Nowadays almost all major hospitals are on the panel of health insurance companies. You can avail cashless service on the network panel hospitals.  Most of the plans provide cashless service on their network panel hospitals or through reimbursement of expenses.  Nowadays almost all major hospitals are on the panel of health insurance companies. You can avail cashless service on the network panel hospitals.  Most of the plans provide cashless service on the network panel hospitals and nowadays almost all major hospitals listed on the insurance companies.  Most of the plans provide cashless service on the network panel hospitals.
Coverage  Mediclaim insurance provides you coverage for the medical related expense or charges incurred at the time of hospitalization. Usually, family floater plan covers a family and it includes up to 4 members but some plans are available in the market to cover parents also in the policy.  Insurance companies do provide for all the medical expense and to decide how much coverage you have required; all you can do is to calculate the estimate of annual expense spent on the health.  Each insurance company have a different plan and provide coverage from a minimum of 8 major diseases to 37 major diseases. Please check the disease covered in the policy you are purchasing. Plans are available with sum assured of a 2lakh-50lakh  Coverage is restricted to an individual insured person and it provides cover for medical related expense.  To decide the coverage, you can estimate the cost incurred in hospitalizing in case of accident/injury plus the cash requirements for a daily expense.
Transportation Cost  Most of the Mediclaim plans provide the transportation cost.  Family floater plans cover the transportation cost for all family members. Most of the plans for the senior citizen provide the transportation cost. Most of the plans provide the transportation cost but some aren't providing because the lump-sum amount is given to cover the expense. Most of the plans provide transportation cost. Generally, these plans provide transportation cost. 
Pre & Post expense of hospitalization You can claim expense incurred for a period 30 days pre-hospitalisation and 60 days after getting discharged up to 45-60 days depending on the plan.  In family health insurance pre-hospitalisation expense can be claimed for a period 30-60 days and after getting discharged up to 45-60 days depending on the plan.  Most of the companies provide all expense incurred related to 30 days pre & 60 post hospitalization or some companies provide 3-5% of all the hospital expense incurred.  Most of the plans offer for the 30 days pre and 60 days post expenses of hospitalization.   Most of the companies provide all expense incurred related to 30 days pre & 90 post hospitalization depending upon the plan. Insurance company provide you expenses coverage as per the sum assured
Additional Benefits • These plan offers additional benefit in the form of flexibility to cover family also through family floater plans by paying some extra premium.
• In some plans, there is an option available to include senior citizen members in the policy or you can purchase separate senior citizen Mediclaim plans.
• You can also avail the tax benefit under section 80 of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
• These plan offers additional benefit in the form of flexibility to cover family also through family floater plans by paying some extra premium.
• In some plans, there is an option available to include senior citizen members in the policy or you can purchase separate senior citizen Mediclaim plans.
• You can also avail the tax benefit under section 80 of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
• It also provides you to cover the expense for more than two or three members at the same time in -the family but within the limit of sum assured.
• You have an option to buy for 2-3 years insurance in one time.
• You can also avail the tax benefit under section 80D of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
• It also provides you to cover the expense for more than two or three members at the same time in -the family but within the limit of sum assured.
• You have an option to buy for 2-3 years insurance in one time.
• You can also avail the tax benefit under section 80D of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
You can also avail the tax benefit under section 80D of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy. • The main benefit of this insurance policy is that it helps you to protect your life long savings. Generally, the insurance company will provide you a lump sum amount to cover the treatment & other expenses in hospital.
• You have an option to buy for 2-3 years insurance in one time. 
• You can also avail the tax benefit under section 80D of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
• The premiums are very economical for the insuring the individual health care.
• It gives the flexibility to add parents and in-laws in the future instead of purchasing a new policy.
• You can also avail the tax benefit under section 80D of Income Tax 1961 on the premium paid against the insurance policy.
• These plans also provide in case of death & permanent disability.
• Some plan provides you coverage for all across the globe.
• You can opt for the individual as well as for the family cover.
Pre-existing Disease  Normal Mediclaim plan doesn't cover any pre-existing disease. In some plans after the waiting period, the pre-existing disease can be covered. Family Floater plan doesn't cover any pre-existing disease from day 1. You have to wait for the waiting period to cover earlier disease. All major insurance providers have a different waiting period for providing cover for the pre-existing disease. No one is providing coverage in the initial 12 months.   Critical illness insurance plan provides coverage to the pre-existing disease but after waiting period is over. It does not give protection from day 1 after buying the policy. Individual Health Insurance plan doesn't cover any pre-existing disease from day 1. You have to wait for the waiting period to cover earlier disease. Pre-existing Injury/Disability is not covered.  
Waiting Period Mediclaim plans have a waiting period of 2-4 years to cover pre-existing disease but please check the period & disease covered under the policy before buying. These plans have a waiting period of 2-4 years to cover pre-existing disease but please check the disease covered under the policy before buying.  In these plans, the waiting period varies from plan to plan but average you have to wait for 2-4 years to cover pre-existing disease but please check the period & disease covered under the policy before buying.   In the critical illness plans the average waiting period is 3 months to claim against the insurance and for the pre-existing disease it goes up to 2-4 years. Please check the disease and waiting period covered in the policy. Individual health insurance plans have a common waiting period of 2-4 years to cover pre-existing disease but please check the disease covered under the policy before buying. This insurance is basically meant for the uncertainity might happen in accident but still cover doesn't start from day 1. Generally it is 30-90 days but waiting period varies from insurance plan to plan. Please check the policy documents before buying.

हेल्थ इंश्योरेंस के क्लेम सेटलमेंट रेश्यो

बीमा कंपनिया  कितना प्रीमियम आया बीमा कंपनी के पास  लोगो से (करोड़ में) कितने के क्लेम पास या  दिए गय (करोड़ में) क्लेम सेटलमेंट रेश्यो %
एक्को  0.08 0.05 65.02%
आदित्य बिरला  151.98 135.35 89.05%
अपोलो म्यूनिख 1264.34 789.88 62.47%
बजाज आलियांज 1331.6 1033.47 77.61%
भारती एक्सा 99.79 98.29 98.50%
चोलामंडलम एमएस  339.16 135.53 39.96%
सिगना टीटीके  266.14 123.2 46.29%
डीएचएफएल 16.87 1.33 7.89%
एडलवाइस 0 0 70.01%
फ्यूचर जनरली  256.26 224.03 87.42%
गो डिजिट  1.76 1.05 60%
एचडीएफसी एर्गो  805.11 423.3 52.58%
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड 1349.32 921 68.26%
इफको टोकियो 499.08 452.62 90.69%
कोटक महिंद्रा 15.1 7.28 48.21%
लिबर्टी जनरल 101.25 75.51 74.58%
मैग्मा एचडीआई 3.38 1.18 34.93%
मैक्स बूपा  575.85 289.02 50.19%
रहेजा क्यूबीई  0.13 0.02 18.19%
रिलायंस 671.16 715.08 106.54%
रेलिगेयर 679.67 353.21 51.97%
रॉयल सुंदरम 251.76 154.6 61.41%
एसबीआई जनरल 806.21 426.76 52.93%
श्रीराम 2.27 1.15 50.83%
स्टार हेल्थ 2739.6 1692.02 61.76%
टाटा एआईजी 418.28 253.82 60.68%
युनिवर्सल सोम्पो 133.06 138.6 104.17%
नेशनल इंश्योरेंस 4047.41 4676.88 115.55%
न्यू इंडिया 6479.06 6685.82 103.19%
ओरिएंटल 3750.52 4270.53 113.86%
यूनाइटेड 4638.13 5146.18 110.95%

टेबल की जानकारी  - ऊपर दी हुई टेबल की सभी जानकारी IRDA की वार्षिक रिपोर्ट 2017-2018 (स्टेटमेंट 15 ) से ली गई है | इंश्योरेंस रेगूलट्ररी डेवेलपमेंट औथोरिटी या IRDA हर साल अपनी वार्षिक  रिपोर्ट में सभी इंश्योरेंस कंपनीयो का  प्रमुख डाटा उपलब्ध कराती है |आप इस डाटा को IRDA की वेबसाइट पर भी पढ़ सकते है | (IRDA वेबसाइट)

* स्वास्थ्य में व्यक्तिगत दुर्घटना और यात्रा बीमा भी शामिल हैं

Claim Settlement Ratio of Health Insurance +

INSURER  Net Earned Premium (In Crore) Claims Incurred (Net) (In Crore) Incurred Claims Ratio %
ACKO 0.08 0.05 65.02%
ADITYA BIRLA  151.98 135.35 89.05%
APOLLO MUNICH  1264.34 789.88 62.47%
BAJAJ ALLIANZ  1331.6 1033.47 77.61%
BHARTI AXA  99.79 98.29 98.50%
CHOLAMANDALAM MS  339.16 135.53 39.96%
CIGNATTK  266.14 123.2 46.29%
DHFL 16.87 1.33 7.89%
EDELWEISS  0 0 70.01%
FUTURE GENERALI  256.26 224.03 87.42%
GO DIGIT  1.76 1.05 60%
HDFC ERGO*  805.11 423.3 52.58%
ICICI LOMBARD  1349.32 921 68.26%
IFFCO TOKIO  499.08 452.62 90.69%
KOTAK MAHINDRA  15.1 7.28 48.21%
LIBERTY GENERAL 101.25 75.51 74.58%
MAGMA HDI  3.38 1.18 34.93%
MAX BUPA  575.85 289.02 50.19%
National Insurance 4047.41 4676.88 115.55%
New India  6479.06 6685.82 103.19%
Oriental 3750.52 4270.53 113.86%
RAHEJA QBE  0.13 0.02 18.19%
RELIANCE  671.16 715.08 106.54%
RELIGARE  679.67 353.21 51.97%
ROYAL SUNDARAM  251.76 154.6 61.41%
SBI GENERAL  806.21 426.76 52.93%
SHRIRAM  2.27 1.15 50.83%
STAR HEALTH  2739.6 1692.02 61.76%
TATA AIG  418.28 253.82 60.68%
United 4638.13 5146.18 110.95%
UNIVERSAL SOMPO  133.06 138.6 104.17%

*Table Information Source - All the information given in the above table is taken from IRDA Annual Report 2017-2018 (Statement 15) . Insurance Regulatory Development Authority or IRDA publishes key data each year for all the insurance company in the annual report. You can access this data on the IRDA website.

*Health Insurance data includes personal accidental insurance and travel insurance

नए लेख - इंश्योरेंस पॉलिसीस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ

17 Sep 2019

हेल्थ इंश्योरेंस और लाइफ इंश्योरेंस में से कौन सा ज्यादा जरुरी?

इंश्योरेंस का मतलब है किसी भी तरह के रिस्क को कवर करना, वह रिस्क जिसके साथ कि

0 Comments

14 May 2019

हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीदने से पहले किन खास बातों पर गौर करना चाहिए

अक्सर हेल्थ इंश्योरेंस  खरीदते समय हम कोशिश करते हैं कि अधिक से अधिक  जानकारी हासिल करने के बाद ही उसे ख़रीदे, लेकिन फिर भी कुछ बातें रह जाती हैं और समय आने पर हम ठगा सा महसूस करते हैं।

0 Comments

Expert Advice

IRDA


आपके फीडबैक

बहुत ही अच्छा लगा इन्शुरन्स के बारे पढ़ कर बिलकुल सरल भाषा का उपयोग करने से बहुत जल्दी से समझ आ गया। 

Dhileesh

Sahi beema is a one stop place to understand all the insurance jargons in very simply layman language

Rajesh
Senior Manager

I was looking for the claim process but unable to find any exact information on any other portals but this website helped me in deciding which insurance product I should buy for me and my family

Lalit
Entrepreneur

में सही बीमा की वेबसाइट पर इनके Youtube चैनल से आया था। सब लोग 1 करोड़ का इन्शुरन्स लेने के लिए बोलते है परन्तु मुझे उस प्लान्स की जानकारी यहाँ से मिली।  धन्यवाद

Prakash

न्यूज़लेटर सब्सक्राइब करे