कार बीमा

कार बीमा के प्रकार

  थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस कम्प्रेहैन्सिव कार इंश्योरेंस
पॉलिसी के बारे में जानकारी सभी वाहन मालिकों के लिए कानूनन अपनी कार का थर्ड पार्टी इंश्योरेंस करवाना अनिवार्य है। यह आपको दुर्घटना में किसी अन्य व्यक्ति के वाहन का नुकसान  / उसके चोट के खर्च को कवर करने में मदद करता है। यह कार को हर तरफ से सुरक्षा देने वाल इंश्योरेंस कवर है। इसे कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस इसलिए कहते  है क्योंकि यह कार हादसे से जुड़े अनेक प्रकार के  नुकसान से सुरक्षा देने का काम करता है, जैसे - सड़क दुर्घटना, चोरी , आग लगना,थर्ड पार्टी को होने वाला नुकसान , दुर्घटना में व्यक्तिगत नुकसान आदि।
प्रीमियम इस इंश्योरेंस का प्रीमियम कॉम्प्रिहेन्सिव  इंश्योरेंस की तुलना में कम है क्योंकि ये वाहन दुर्घटना / चोरी / से किसी भी अन्य तरह के नुकसान को कवर नहीं करता है। पहली नज़र में इसका प्रीमियम थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस से अधिक लगता है , लेकिन अगर  तुलना की जाए तो जिस तरह का इंश्योरेंस कवर इसमें दिया जाता है ,  उस हिसाब से इसका प्रीमियम किसी भी मायने में अधिक नहीं है।
कैशलेस नेटवर्क गैरेज इस इंश्योरेंस में सिर्फ किसी अन्य गाडी के नुकसान का ही कवरेज मिलता है इसलिए कैशलेस सेवाएं उपलब्ध नहीं हैं। बिना पैसे दिये (कैशलेस) कार की मरम्मत की सुविधा इसमें दी जाती है। इंश्योरेंस कम्पनियों  का करार जगह -जगह कार को ठीक करने वाले गेराज से होता है, जिन्हें नेटवर्क ऑफ़ गेराज कहते हैं। इनश्योर्ड  कार यहाँ जाकर अपनी मरम्मत करवाते हैं , और बिल का पैसा इंश्योरेंस कंपनी गेराज में सीधा जमा कर देती है।  
कवरेज यह केवल दूसरे व्यक्ति के नुकसान के लिए कवरेज प्रदान करता है। इसमें आपकी गाड़ी या आपको चोट से हुए नुकसान के लिए कोई पैसा नहीं दिया जाता है। • फर्स्ट पार्टी और थर्ड पार्टी दोनों को सड़क दुर्घटना में होने वाले किसी भी तरह के नुकसान को -चाहे वह वाहन है या व्यक्ति, कवरेज देता है।
• सड़क दुर्घटना में  व्यक्ति के दोषी पाए  जाने पर उससे जुड़ा मुकदमा और उसके फीस को कवर करता है।
• अगर दुर्घटना के लिए आप खुद दोषी हैं, तब भी कार को हुए  नुकसान का क्लेम होता है।
• कार की चोरी को कवर करता है।
• प्राकृतिक आपदा से होने वाले नुकसान को कवर करता है।
जीरो डेप्रिसिएशन कवर  इस इंश्योरेंस में जीरो डेप्रिसिएशन का विकल्प नहीं होता है। इसमें जीरो डेप्रिसिएशन ऐड ऑन कवर लेने की सुविधा है। कार के प्लास्टिक, कांच, फाइबर और मेटल जैसे कुछ हिस्से, जो जल्द ख़राब होना शुरू हो जाते हैं, उसमें लगने वाले  "डेप्रिसिएशन" से बचाने का विकल्प है। यह कवर सिर्फ नई गाड़ियों पर ही  मिलता है।
सड़क पर हुई टूट - फूट या गाड़ी ख़राब होने पर सहायता सड़क पर हुई टूट - फूट या गाड़ी ख़राब होने पर कोई भी सहायता नहीं दी जाती है परन्तु आप अलग से पैसे दे कर एक्सीडेंट के समय सहायता ले सकते है। यह रोडसाइड इमरजेंसी असिस्टेंस ,ऐड ऑन सेवा है, जो कॉम्प्रिहेंसिव प्लान के साथ उपलब्ध है।  इसमें रास्ते में गाड़ी ख़राब होने पर , या गाड़ी से जुडी कोई और परेशानी होने पर, हर तरह की मदद दी जाती है।
मेजर पार्ट्स कवरेज जैसे की इंजन यह किसी भी हिस्से के लिए कवरेज प्रदान नहीं करता है। इसमें इंजन प्रोटेक्शन ऐड ऑन कवर उपलब्ध है, जिसमें गियर बॉक्स को नुकसान होने पर, या इंजन में किसी वजह से खराबी आने पर इंश्योरेंस कंपनी मरम्मत का खर्चा उठाती  है।
नो क्लेम बोनस थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में, आप नो क्लेम बोनस का लाभ नहीं उठा सकते हैं। यह एक तरह का डिस्काउंट है जो कॉम्प्रिहेंसिव प्लान के साथ उपलब्ध है।  इसमें इंश्योरेंस प्लान लेने के बाद अगर साल भर के अंदर अगर कोई क्लेम नहीं लिया जाता, तो कंपनी  बोनस देती है जिससे अगले साल के इंश्योरेंस प्रीमियम पर डिस्काउंट मिलता है।
कार बीमा खरीदने से पहले ध्यान रखने योग्य बातें किसी भी बीमा कंपनी का कार इंश्योरेंस लेने से पहले क्लेम सेटलमेंट रेश्यो की जाँच जरुर करें। • कार के ऐड ऑन लेते समय उन्ही फीचर्स को शामिल करें जिनकी वाकई आपको जरुरत है
• जीरो डिप्रेशन इंश्योरेंस में स्टैंडर्ड वियर एंड टियर में आने वाली चीज़ें कवर नहीं होती  -जैसे कार की बैटरी, टायर, क्लच प्लेट्स, बियरिंग्स आदि।
• इंश्योरेंस कम्पनी क्लेम का पैसा IDV  के आधार पर देती है , जो इंश्योरेंस कम्पनी द्वारा तय किया जाता है।
• उन बातों की जानकारी जो कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस में कवर नहीं होते, जैसे –दुर्घटना के समय चालक का नशे में पाया जाना, या चालक के पास वैध ड्राइविंग लाइसेंस का न होना,रास्ते में होने वाला मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल खराबी  या गाड़ी को पहुंचा कोई ऐसा नुकसान जो दुर्घटना का नतीजा नहीं है।

Types of Car Insurance +

  Third-Party Car Insurance  Comprehensive Car Insurance
About the Policy It is a compulsory insurance product in India for all the motor vehicles running on the road. It covers the losses and injuries suffered by the third party in the event of an accident. Comprehensive Car Insurance is an insurance policy intended to gives coverage to both the policy holder and the third party in the event of an accident. it is called comprehensive because its coverage area can be further widened by adding a number of add on covers.
 This insurance cover is optional as per the laws.
Premium Its Premium is lesser in comparison to the comprehensive policy since it only covers liabilities towards the third party.  The premium is higher due to a number of factors
• covers third party as well as the policyholder
• add on benefits add to the cost of the premium 
Cashless Network Garage  This facility does not exist for third party damages.  This facility is available In this insurance plan, where the policyholder can get his car repaired free of cost in the network garages that are in the list of the insurance company. The insurance company directly settles the bill to the network garages.
Coverage Only liability towards the third party is covered under this insurance plan. It covers losses and injuries suffered by the third party as well as the owner of the policy, in the event of an unfortunate car accident.
Zero Depreciation Cover No add–on cover is available in the third party insurance. This add on cover is available with basic car insurance policy, and is only for the newly bought cars. It is available at some extra cost that adds to the premium. It protects the car from the yearly depreciation suffered by certain parts of the car that are made from plastic, fiber and metal.
Roadside Assistance  This facility is not available in third party insurance but some  insurance companies provide this service at an extra cost Some insurance companies provide this facility in their plan as a unique feature to attract more customers, but otherwise it is generally purchased as an add on feature.
Major Parts Coverage i.e. Engine This insurance does not cover any part of the car. This plan provides coverage to most of the major parts of the car that suffer damages in an accident. But issues like engine malfunction or engine breakdown is not covered in the plan.
Only a few insurance companies offer coverage to engine as an additional add on cover.
No Claim Bonus  Not applicable in this case Most insurance companies provide no claim bonus in this plan, if no claim is made the year before.
Personal Accident Plan  This is an optional cover available only as an add on. It is available in this plan along with accidental death and permanent disability cover. This add on cover is available at some extra premium.
Things to keep in mind before buying car insurance Please check claim settlement ratio for the insurance company. Please check claim settlement ratio for the insurance company and expense covered in the policy.
Insured Declare Value It is not applicable in this case In this plan the maximum compensation paid to the policyholder in case of theft or any damages suffered by the car is equal to the Insured Declared Value. IDV is the current market value of the car calculated after subtracting the depreciation.
Medical Expenses  Medical expense related to the injuries suffered by the third party in the accident is covered.  It is included.
Accessories Cover Not covered Only company fitted accessories are covered in this plan. 
Add ons In this plan you can get personal accident plan only in add on options.  In this plan there are various add on options you can avail i.e Zero Depreciation, Roadside Assistance, Engine Protection

Car Claim Process

 

Car Claim Process In Case of Accident/ Damage to your vehicle Car Claim Process In Case of Damage to Third Party Claims Car Claim Proces In case of Theft/Stolen Vehicle
The damage to your vehicle might happen due to some incident or accident and then on a priority basis, you need to inform the insurance company and tell them about the damage conditions. The insurance company will ask you to fill a Claim Process form so that they can register the claim against your insurance and start the further process.  When there is an accident on the road and other person gets injured or his/her vehicle gets damaged from your vehicle while driving. In such case that third party will ask for their damages and then you need to inform the insurance agency for the claim. In some case, you might get a legal notice and in both the situations, you need to inform insurance company. As soon as you realize that the vehicle is stolen, the first and foremost thing to do is to file a complaint about this in the local police station. Once you have registered FIR then you need to inform and submit one copy of FIR to the insurance company.
As soon as you submit the claim process form, the insurance company will assign the surveyor to measure the impact of damage and book the claim in insurance company records. Surveyor will prepare a report on the condition of the vehicle and will also share the report of copy with you.  Before communicating with the third party, you need to inform the insurance company. In case you have discussed and reached on a mutually agreeable amount with other party then you need to inform about this to the insurance company. Police will start investigating for the stolen vehicle incident on the basis of the filed FIR. They will prepare a report on the detailed analysis of the situation and will give one copy to you as reference. You need to submit one copy of the detailed report to the insurance company for further proceeding.
If there is a major incident incurred and huge damage has happened to the vehicle then the insurance company will send surveyor as soon as possible to the location. Surveyor will check the condition of the vehicle and prepare a report along with pictures of the damaged vehicle to submit in the insurance company and will make the arrangement to send the vehicle for repair In case you are not able to reach at a mutual agreement with the third party then you need to submit all documents related to claim i.e. Copy of legal notice, Copy of FIR, Driving license along with the RC Copy to the insurance company.   Insurance company will analyze the report and evaluate the claim and if it is approved by the insurance company then you need to send all the documents/items related to vehicle i.e. RC Copy, Duplicate Keys or any other important documents
Once your repair has been completed in the garage then you need to submit all the documents related to repair so that insurance company starts the claim processing task from their end. Before processing the claim, insurance company will analyze the claim of the third party and evaluate all the documents.  Insurance company will get the car transferred in their name to investigate about the incident. You need to sign the subrogation & indemnity form to analyze and evaluate the claim.
Insurance company will gather documents and analyze the claim as per your insurance policy. If all the documents are as per the norms then the insurance company will process the claim On behalf of you, insurance company will appoint a lawyer to represent your side of the case and if courts announce to pay the damages to the third party then the insurance company will make the payment.  After analyzing the claim, formalities, and process, the insurance company will give you the insurance money as per the policy.

कार बीमा क्लेम सेटलमेंट रेश्यो

बीमा कंपनिया  बीमा कंपनी के पास कितना प्रीमियम आया (करोड़ में)   बीमा कंपनी ने कितने क्लेम पास करे (करोड़ में) क्लेम सेटलमेंट रेश्यो %
बजाज आलियांज 3662.67 2278.06 62.20%
भारती एक्सा 1010.07 825.6 81.74%
चोलामंडलम एमएस  2266.41 1805.23 79.65%
फ्यूचर जनरली  818.92 626.5 76.50%
गो डिजिट  5.7 5.7 100%
एचडीएफसी एर्गो  1516.87 1279.81 84.37%
आईसीआईसीआई लोम्बार्ड 4142.19 3207.89 77.44%
इफको टोकियो 2328.56 1843.92 79.19%
कोटक महिंद्रा 98.27 74.68 75.99%
लिबर्टी जनरल 441.84 307.61 69.62%
मैग्मा एचडीआई 320.49 261.86 81.71%
रहेजा क्यूबीई  33.12 37.94 114.53%
रिलायंस 1735.52 1413.87 81.47%
रॉयल सुंदरम 1619.78 1376.58 84.99%
एसबीआई जनरल 738.09 677.21 91.75%
श्रीराम 1815.32 1716.56 94.56%
टाटा एआईजी 2310.44 1585.43 68.62%
युनिवर्सल सोम्पो 454.75 366.81 80.66%

टेबल की जानकारी  - ऊपर दी हुई टेबल की सभी जानकारी IRDA की वार्षिक रिपोर्ट 2017-2018 (स्टेटमेंट 15 ) से ली गई है | इंश्योरेंस रेगूलट्ररी डेवेलपमेंट औथोरिटी या IRDA हर साल अपनी वार्षिक  रिपोर्ट में सभी इंश्योरेंस कंपनीयो का  प्रमुख डाटा उपलब्ध कराती है |आप इस डाटा को IRDA की वेबसाइट पर भी पढ़ सकते है | (IRDA वेबसाइट)

Car Insurance Claim Settlement Ratio +

INSURER  Net Earned Premium (In Crore) Claims Incurred (Net) (In Crore) Incurred Claims Ratio %
BAJAJ ALLIANZ  3662.67 2278.06 62.20%
BHARTI AXA  1010.07 825.6 81.74%
CHOLAMANDALAM MS  2266.41 1805.23 79.65%
FUTURE GENERALI  818.92 626.5 76.50%
GO DIGIT  5.7 5.7 100%
HDFC ERGO*  1516.87 1279.81 84.37%
ICICI LOMBARD  4142.19 3207.89 77.44%
IFFCO TOKIO  2328.56 1843.92 79.19%
KOTAK MAHINDRA  98.27 74.68 75.99%
LIBERTY GENERAL 441.84 307.61 69.62%
MAGMA HDI  320.49 261.86 81.71%
RAHEJA QBE  33.12 37.94 114.53%
RELIANCE  1735.52 1413.87 81.47%
ROYAL SUNDARAM  1619.78 1376.58 84.99%
SBI GENERAL  738.09 677.21 91.75%
SHRIRAM  1815.32 1716.56 94.56%
TATA AIG  2310.44 1585.43 68.62%
UNIVERSAL SOMPO  454.75 366.81 80.66%

Table Information Source - All the information given in the above table is taken from IRDA Annual Report 2017-2018 (Statement 15) . Insurance Regulatory Development Authority or IRDA publishes key data each year for all the insurance company in the annual report. You can access this data on the IRDA website.

नए लेख - इंश्योरेंस पॉलिसीस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियाँ

14 May 2019

थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस क्या होता है?

सड़क हादसा कभी भी हो सकता हैं, और यदि जाने- अनजाने कभी आपकी गलती की वजह से दुर्घटना हो जाती है, और सामने वाले को नुकसान उठाना पड़ता है, तो न चाहते हुए भी आपको किये गए नुकसान का हर्ज़ाना भरना ही पड़ेगा।

0 Comments

13 May 2019

जीरो डेप्रिसिएशन कार इंश्योरेंस कवर किस तरह उपयोगी है

कार इंश्योरेंस  दो तरह के होते हैं - थर्ड पार्टी कार इंश्योरेंस  और कॉम्प्रिहेंसिव कार इंश्योरेंस । कॉम्प्रिहेंसिव कार इंश्योरेंस थर्ड पार्टी को भी नुकसान से बचता है, और पॉलिसी धारक की गाड़ी  को भी ।

0 Comments

Expert Advice

IRDA


आपके फीडबैक

बहुत ही अच्छा लगा इन्शुरन्स के बारे पढ़ कर बिलकुल सरल भाषा का उपयोग करने से बहुत जल्दी से समझ आ गया। 

Dhileesh

Sahi beema is a one stop place to understand all the insurance jargons in very simply layman language

Rajesh
Senior Manager

I was looking for the claim process but unable to find any exact information on any other portals but this website helped me in deciding which insurance product I should buy for me and my family

Lalit
Entrepreneur

में सही बीमा की वेबसाइट पर इनके Youtube चैनल से आया था। सब लोग 1 करोड़ का इन्शुरन्स लेने के लिए बोलते है परन्तु मुझे उस प्लान्स की जानकारी यहाँ से मिली।  धन्यवाद

Prakash

न्यूज़लेटर सब्सक्राइब करे